What Is Acne in Hindi – एक्ने पिंपल्स क्या है – आयुर्वेदिक घरेलु उपाय

 

नमस्कार दोस्तों, आज हम बात करने वाले हैं की एक्ने क्या हैं और इसके आयुर्वेदिक घरेलु उपाय क्या हैं। और इनसे हम कैसे बचें ये सभी जानकारी हम इस पोस्ट में देने वाले हैं।

अगर आपको पिम्पल्स मुँहासे हो गए हैं तो कोई भी दवाई या खुद से इलाज करने से पहले एक बार त्वचा विशेषज्ञ की राय जरूर ले ।

एक्ने मुँहासे क्या हैं ? What is Pimples (acne) in Hindi ?

आप सभी जानते होंगे ये क्या हैं अक्सर ये तेलीय त्वचा वाले लोगो को ज्यादा होती हैं लेकिन ये किशोरवस्था में भी लोगों को होती हैं जिसके बहुत से कारण होते हैं । जिनमें से कुछ हार्मोन्स में आने वाले बदलाव के वजह से भी होते हैं ये किसी भी उम्र के लोगों को हो सकता हैं क्योकि एक्ने पिम्पल्स होने के और भी बहुत से कारण हैं जैसे प्रदूषण जिससे आपकी त्वचा बहुत प्रभावित होती हैं और इसके वजह से कई बार आपको एक्ने पिम्पल जैसी दिक्क्तों का सामना करना पड़ता हैं।

मुहांसे होने का कारण / एक्ने के कारण

मुहांसे होने का कारण / एक्ने के कारण – Reason for Pimples (acne) in Hindi

जैसे मैंने ऊपर पहले भी बताया हैं की इसके न सिर्फ एक कारण हो सकते हैं बल्कि इसके बहुत से कारण हो सकते हैं। चलिए विस्तार से जानते हैं इसके बारे में कि फेस पर पिंपल्स क्यों होते हैं।

  1. अधिक मात्रा में तेल का उत्पादन सीबम – किशोरवस्था में सीबम का उत्पादन बढ़ जाता हैं जो कि एक मुख्या कारण हैं
  2. बैक्टीरिया – डस्ट के साथ में बैक्टीरिया भी उतने ही पनपते हैं
  3. हार्मोन – किशोरवस्था में हार्मोन्स में बदलाव के कारण भी होते हैं
  4. मृत स्क्रीन – मृत स्क्रीन की कोशिकाएं भी एक कारण हैं इसका
  5. प्रदूषण – जी हाँ एक कारण ये भी हैं आपके चेहरे को ये बहुत प्रभावित करता हैं
  6. पाचन तंत्र में परेशानी – जब आपकी पाचन प्रकिया अच्छी नहीं होती हैं तो शरीर में जमे विषैले पदार्थ मुँहासे एक्ने के उत्पादन में योगदान करने लगते हैं।
  7. नींद की कमी – यदि आप पर्याप्त नींद नहीं ले पा रहें हैं तो शायद आपको ये दिक्कतों का सामना करवा सकते हैं क्योकि जब आप किसी भी कारण से पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं तो आपके शरीर में विषाक्त पदार्थ जमा हो जाते हैं और ये एक्ने पिम्पल्स का रूप लेते हैं बाद में ।

मुहासों के प्रकार

मुहासों के प्रकार – Acne types in hindi

मुँहासे ज्यादातर चेहरे, छाती और पीठ में होते हैं और जो कई प्रकार के होते हैं जिनके बारे में हमने नीचे जानकारी दी हैं ।

  1. पेप्युल्स – Papules: ये छोटे गुलाबी गुलाबी दाने होते हैं जो चेहरे में दिखते हैं और यदि आप बहुत गोरे हैं तो ये दूर से ही समझ आ जाते हैं ।
  2. ब्लैकहैड्स – blackheads: ये त्वचा की ऊपरी परत में होते हैं और ये काले होते हैं इस वजह से ये साफ़ दिखाई देते हैं ।
  3. व्हाइटहेड्स – whiteheads: ये बहुत छोटे पिम्पल होते हैं ये त्वचा के नीचे होते हैं कई बार सिर्फ मुँह धुलने में ये फूट जाते हैं और पस निकल जाता हैं ।
  4. पुस्टूल – pustules: ये लाल दाने होते हैं जो पस से भरे होते हैं और ये बहुत ही आसानी से नजर आ जाते हैं इनके लाल रंग के वजह से ।
  5. नोडुल्स (पिंड) – nodules: ये बड़े और ठोस पिम्पल होते हैं ये त्वचा में आसानी से देखे जा सकते हैं और ये बहुत ही दर्द भरे होते हैं क्योकि इनकी जड़े त्वचा के बहुत अंदर तक होती हैं।
  6. अल्सर – cysts: ये मुँहासे चेहरे के ऊपर ही होते हैं जिस कारण सिर्फ हलके से भी छुअन से काफी दर्द होता हैं और ये कई बार फूटने के बाद दाग छोड़ जाते हैं ।

मुंहासे रोकने के उपाय

  1. अपने चेहरे को पानी से बार बार धोये और साफ़ तौलिये से अपने चेहरे को हल्के हल्के पोछे ।
  2. बाहर की चीज़ो को खाने से बचे तला भुना तेल वाले खाने से बचे ।
  3. अच्छा हेल्दी खाना खाये।
  4. योगा करें और खूब पानी पीएं।
  5. टेंशन और स्ट्रेस से दूर रहें।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *